जर्जर भवन में पढ़ने को मजबूर विद्यार्थी, हादसे का अंदेशा

आदिवासी विकासखंड खालवा का एकमात्र उत्कृष्ट विद्यालय भवन 80 वर्ष से भी अधिक पुराना है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

खालवा। आदिमजाति कल्याण विभाग द्वारा संचालित उत्कृष्ट विद्यालय में 500 से अधिक विद्यार्थी जान जोखिम में डालकर पढ़ने को मजबूर हैं। विद्यालय भवन कभी भी धराशाही हो सकता है। ऐसे में विद्यार्थियों को भी हर समय घटना-दुर्घटना का भय लगा रहता है। कभी भी कोई हादसा होने से इनकार नहीं किया जा सकता है। चार वर्ष पूर्व तत्कालीन शिक्षा मंत्री ने नया भवन बनवाने की घोषणा की थी लेकिन अभी तक अमल नहीं हो सका है।

आदिवासी विकासखंड खालवा का एकमात्र उत्कृष्ट विद्यालय भवन 80 वर्ष से भी अधिक पुराना है। 15 वर्ष पूर्व यहां संचालित उच्चतर माध्यमिक शाला का उन्नायन उत्कृष्ट विद्यालय के रूप में कर दिया गया था। इसके बावजूद आज तक इस संस्था को उत्कृष्ट विद्यालय जैसी सुविधा नहीं मिल पाई है। देखरेख के अभाव में स्कूल भवन पूरी तरह जर्जर हो चुकी है। कुल 15 कमरों में से पांच जर्जर होने से पूर्व में ही छात्र-छात्राओं का प्रवेश निषेध कर दिया गया था। शेष 10 कक्षाओं की हालत भी दयनीय हो गई है। कक्षा 9वीं से 12वीं तक 500 से अधिक विद्यार्थी अध्ययनरत हैं।

स्कूल भवन लगता है भूतिया हवेली

छात्र-छात्राओं ने बताया कि स्कूल भवन की दीववारों में बड़ी-बड़ी दरारें पड़ गई हैं। छत से कवेलू गिरने के साथ ही लकड़ियां भी टूट रही हैं। दीवारों के चटकने की आवाज सुनाई देने पर ऐसा लगता है कि हम किसी भूतिया हवेली में पढ़ रहे हैं। दीवारों से जगह-जगह प्लास्टर भी उखड़ चुके हैं। स्कूल भवन कब गिर जाए कहा नहीं जा सकता। हर समय घटना-दुर्घटना का भय लगा रहता है। बारिश के दिनों में तो परेशानी और बढ़ जाती है। प्राचार्य व स्टाफ रूम में भी छत से पानी टपकता रहता है। इससे बचने के लिए पन्नाी लगाई गई है। यही हाल अन्य कक्षाओं के भी हैं। अध्यापन के दौरान बारिश होने से काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। विद्यार्थियों ने बताया कि यहां आने वाले विधायक, मंत्री और अधिकारियों से भी नया भवन बनवाने की कई बार गुहार लगा चुके हैं। अभी तक किसी भी स्तर पर ध्यान नहीं दिया गया है। ऐसे में लगता है शासन-प्रशासन को कोई बड़ी घटना-दुर्घटना का इंतजार है।

मंत्री की घोषणा भी नहीं हुई पूरी

वर्ष 2016 में क्षेत्रीय विधायक व तत्कालीन शिक्षा मंत्री विजय शाह ने उत्कृष्ट विद्यालय में आयोजित साइकिल वितरण कार्यक्रम के दौरान स्कूल भवन की दयनीय स्थिति देखकर एक करोड़ रुपए की लागत से नया भवन बनवाने की घोषणा की थी। उनकी घोषणा अभी तक पूरी नहीं हो सकी है। विदित हो कि गत माह खालवा दौरे पर आए जिले के प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट को भी स्कूल भवन की जर्जर स्थिति से अवगत कराया जा चुका है। विद्यार्थियों का कहना है कि यदि शीघ्र ही इस ओर ध्यान नहीं दिया गया तो कभी भी कोई हादसा होने से इनकार नहीं किया जा सकता है।

करा चुके हैं अवगत

उत्कृष्ट विद्यालय भवन काफी पुराना है। भवनों की स्थिति जर्जर होने से पांच कक्षों में तो प्रवेश निषेध कर रखा है। अन्य कमरों की स्थिति भी मरम्मत कराने जैसी नहीं है। इन समस्याओं से वरिष्ठ अधिकारियों को कई बार अवगत कराया जा चुका है। – अल्का उपाध्याय, प्रभारी प्राचार्य उत्कृष्ट विधालय, खालवा

भेजा है प्रस्ताव

उत्कृष्ट विद्यालय के लिए नया भवन बनाने का प्रस्ताव भोपाल भेजा जा चुका है। निरीक्षक प्रतिवेदन में भी स्कूल भवन जर्जर होने की स्थिति से अवगत कराया गया है। स्वीकृति मिलते ही भवन निर्माण का कार्य शुरू कर दिया जाएगा। – नीरज पाराशर, सहायक संचालक आदिम जाति कल्याण विभाग खालवा

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...

महिलाओं ने बाइक पर सवार होकर की 21 देशों की सफल यात्रा, कठिन चुनौतियों के बाद भी डिगा नहीं फैसला     |     CJI शरद अरविंद बोबडे ने कहा, बदले की भावना से किया गया इंसाफ न्‍याय नहीं     |     उन्नाव की बिटिया की मौत पर यूपी में सियासी बवाल, कांग्रेस ने घेरा भाजपा मुख्यालय; पुलिस ने फटकारी लाठी     |     दर्द से कराहती उन्नाव पीड़िता की हालत देख रो पड़े थे सारे डॉक्टर     |     SC पहुंचा हैदराबाद एनकाउंटर मामला, वकीलों ने पुलिस के खिलाफ दायर की याचिका     |     जिंदगी की जंग हार गई उन्नाव बलात्कार पीड़िता, आखिरी शब्द थे- बच तो जाऊंगी न, मरना नहीं चाहती     |     उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद भाई ने मांगा न्याय, कहा- बहन की तरह आरोपियों को भी जिंदा जलाओ     |     उन्नाव कांड: प्रियंका बोलीं- हमारी नाकामयाबी, पीड़िता को नहीं मिला न्याय     |     महिला डॉक्टर को 10 दिन में मिला इंसाफ, पिता बोले- अब मेरी बेटी की आत्मा को मिलेगी शांति     |     रामजन्मभूमि पर फैसले के खिलाफ मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड सुप्रीम कोर्ट में आज दाखिल करेगा रिव्यू पिटीशन     |