भारत में भी किया जाए विदेशी छात्रों का स्वागत : पटनायक

पटनायक भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआइआइ) द्वारा आयोजित दो दिवसीय शिक्षा सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

नई दिल्ली। विदेश मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव दिनेश पटनायक ने गुरुवार को कहा कि शिक्षा के अंतरराष्ट्रीयकरण का मतलब सिर्फ भारतीय छात्रों को विदेश भेजना नहीं, बल्कि देश में विदेशी छात्रों का स्वागत करना भी है।

पटनायक भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआइआइ) द्वारा आयोजित दो दिवसीय शिक्षा सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा, ‘हमें शिक्षा के अंतरराष्ट्रीयकरण पर समग्र रूप से विचार करने की जरूरत है। इसका मतलब सिर्फ भारतीय छात्रों को विदेश भेजना नहीं, बल्कि भारत में विदेशी छात्रों का स्वागत करना भी है।’ पटनायक ने कहा, ‘सरकार वैश्रि्वक छात्र मंच पर काम कर रही है। वहां छात्रों की आसानी के लिए एक ही स्थान पर विश्र्व के सभी शिक्षण संस्थानों के बारे में समग्र जानकारी उपलब्ध होगी।’

भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद के महानिदेशक अखिलेश मिश्रा ने कहा, ‘विदेश मंत्रालय इस शब्द के फैशन में आने से पहले से उच्च शिक्षा के अंतरराष्ट्रीयकरण पर काम करता रहा है।’ भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मद्रास में अंतरराष्ट्रीय संबंध मामलों के डीन महेश पंचागनुला ने विदेशी छात्रों के लिए दोहरे डिग्री कार्यक्रमों की आवश्यकता पर जोर दिया।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...

जिंदगी की जंग हार गई उन्नाव बलात्कार पीड़िता, आखिरी शब्द थे- बच तो जाऊंगी न, मरना नहीं चाहती     |     उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद भाई ने मांगा न्याय, कहा- बहन की तरह आरोपियों को भी जिंदा जलाओ     |     उन्नाव कांड: प्रियंका बोलीं- हमारी नाकामयाबी, पीड़िता को नहीं मिला न्याय     |     महिला डॉक्टर को 10 दिन में मिला इंसाफ, पिता बोले- अब मेरी बेटी की आत्मा को मिलेगी शांति     |     रामजन्मभूमि पर फैसले के खिलाफ मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड सुप्रीम कोर्ट में आज दाखिल करेगा रिव्यू पिटीशन     |     प्याज की कीमतों पर सरकार का मंथन, गृहमंत्री की अध्यक्षता में मंत्री समूह की बैठक     |     सोमवार को संसद में पेश होगा नागरिकता संशोधन विधेयक, भाजपा ने जारी किया व्हिप     |     नाराज सीएम गहलोत ने 9 अधिकारियों को किया सस्पेंड, 3 को थमाई चार्जशीट     |     दिल्ली लाई गई उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता, एयरपोर्ट से सफदरजंग तक बनाया गया ग्रीन कॉरिडोर     |     महिला सुरक्षा पर मोदी सरकार का बड़ा फैसला, देशभर के सभी थानों में बनेंगी महिला हेल्प डेस्क     |