खंडवा

जिले के ग्रामीण व शहरी क्षेत्र में पहुंच मार्गों की स्थिति सुधारें

खंडवा-कालमुखी मार्ग पूरी तरह खराब हो चुका है। इसके पुनर्निर्माण की स्वीकृति होकर टेंडर भी हो चुके हैं

खंडवा। खंडवा-कालमुखी मार्ग पूरी तरह खराब हो चुका है। इसके पुनर्निर्माण की स्वीकृति होकर टेंडर भी हो चुके हैं परंतु अभी तक कार्य प्रारंभ नहीं हुआ, मार्ग खराब होने का खामियाजा यात्रियों के साथ, बसें एवं बस मालिक उठा रहे हैं। इस मार्ग पर चलने वाली बसें खस्ताहाल हो चुकी है और इसी के चलते आए दिन दुर्घटनाएं हो रही है। शनिवार को ग्राम काकरिया के पास आर्या बस के पलटने का भी यही कारण रहा। जानकारों के मुताबिक बस का ड्राइवर साइड का पिछला ब्रेक पहले से ही कार्य नहीं कर रहा था। बस क्रमांक एमपी 13 टी 3881 रोज की तरह रिछफल से शनिवार शाम 3.40 पर कालमुखी पहुंची और यहां से 4.00 बजे खंडवा के लिए रवाना हुई। बताया जाता है कि कालमुखी से निकलते समय बस में क्षमता से अधिक सवारियां थी। यहां से बस काकरिया पहुंची और वहां से मात्रा आधा किलोमीटर दूरी पर ड्राइवर महेश पंवार अटूट को एहसास हुआ कि बस का स्टेयरिंग फेल हो चुका है। उसने तत्काल सतर्कता दिखाते हुए यात्रियों को खिड़कियों से अपने हाथ अंदर कर लेने का कहा इतना कहने के कुछ ही समय बाद बस कंडक्टर साइट पलट गई ड्राइवर ने बहादुरी दिखाते हुए बाहर निकल कर सामने का कांच फोड़कर यात्रियों को एक-एक कर बाहर किया। बड़ी बात यह रही कि दुर्घटना में केवल 2 यात्रियों जिनमें एक युवक एवं एक युवती को मामूली खरोच आई।
ग्रामीणों का कथन है कि मार्ग पर कभी भी परिवहन अधिकारी ने बसों के जांच करने की जहमत नहीं उठाई। यदि इस मार्ग पर वाहनों की चेकिंग हफ्ते माह में होती रहे तो यहां बड़ा खुलासा हो सकता है। ऐसा माना जाता है कि कई बसें बगैर परमिट की चल रही है या जिनके परमिटों की तारीखें निकल चुकी है।

Tags

सम्बंधित आर्टिकल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close