इंदिरापुरम सुसाइड: बच्चों को मार कर दोस्त को किया वीडियो कॉल, कहा-सब खत्म

मौके पर पुलिस को जांच के दौरान घर के कमरे की दीवार पर राकेश वर्मा का नाम लिखा मिला

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

कर्ज में डूबे जींस कारोबारी ने अपनी दो बच्चों की क्रूरता से हत्या करने के बाद अपनी पत्नी और सहकर्मी के साथ अपार्टमेंट की 8वीं मंजिल से कूद कर जान दे दी। दिल्ली से सटे गाजियाबाद के इंदिरापुरम की कृष्णा अपरा सोसायटी में एक दंपत्ति के साथ एक अन्य महिला ने भी इमारत से कूदकर आत्महत्या की है, बताया जा रहा है कि वह गुलशन की बिजनेस पार्टनर थी। ये वाकया तड़के सुबह 5 बजे के करीब हुआ।

बच्चों की हत्या कर दोस्त को की वीडियो कॉल
आत्महत्या करने वालों में कारोबारी गुलशन वासुदेवा उर्फ हरीश (48), पत्नी परमीना (40) और उसकी फैक्ट्री की मैनेजर संजना (25) है। कारोबारी गुलशन ने आत्महत्या करने से पहले अपने बच्चों की हत्या कर अपने दोस्त रमेश कुमार अरोड़ा को मंगलवार सुबह करीब 3:38 बजे एक वॉट्सऐप पर मेसेज भेजा जिसमें उसने लिखा कि सब कुछ खत्म हो गया। इसके कुछ देर बाद वीडियो कॉल कर बेडरूम में दोनों बच्चों की हत्या करने की बात कहते हुए वहां का मंजर और दीवार पर लिखा खुदकुशी का नोट भी दिखाया।

फांसी लगाने का था प्लान…लेकिन कुर्सियों पर चढ़कर कूदे
दिल्ली की झिलमिल कॉलोनी में रहने वाले 45 साल के गुलशन वासुदेव 14 अक्तूबर को सोसायटी के फ्लैट नंबर A-806 में किराए पर रहने आए थे। इससे पहले वह इंदिरापुरम में ही एटीएस सोसायटी में रहते थे लेकिन आर्तिक तंगी के कारण उन्होंने वह फ्लैट बेच दिया था। एसएसपी सुधीर कुमार ने बताया कि फ्लैट की बालकनी में 3 कुर्सियां मिली हैं। अंदाजा है कि इन्हीं पर चढ़कर तीनों ने नीचे छलांग लगाई होगी। खबरों के मुताबिक घर में सिर्फ एक ऐसी जगह थी जहां फंदा लटकाया जा सकता था। ऐसे में तीनों के एक साथ मरने की योजना सफल नहीं होती। पुलिस को अपनी जांच के दौरान गुलशन के फ्लैट से पंखे से लटका एक फंदा मिला है। इसी के आधार पर पुलिस ने बताया कि तीनों फांसी लगाकर खुदकुशी करने वाले थे लेकिन फिर उन्होंने अपना इरादा बदल दिया होगा, क्योंकि शायद वो तीनों साथ में सुसाइज करना चाहते हो। इसके बाद शायद कुर्सी पर चढ़कर तीनों बालकिनी से कूद गए हो।

बेटे का पहले दबाया गला फिर चाकू से काटा
एसएसपी सुधीर कुमार ने कहा कि बीती देर रात जब गुलशन घर पहुंचा तो उसने इस संबंध में पत्नी से काफी देर तक बातचीत की, जिसके बाद देर रात सोते वक्त बेटे रितिक (15) का पहले गला दबाया, फिर किचन वाले चाकू से गला रेत दिया। बेटी कृतिका (18) की हत्या भी गला दबाकर की गई है। बाथरूम से सल्फास की 4 गोलियां और एक इंजेक्शन मिला है। 8वीं मंजिल से कूदने के बाद गुलशन और परमीना की मौके पर ही मौत हो गई थी लेकिन संजना की सांसें चल रही थीं। उसे अस्पताल भेजा गया। जहां कुछ देर बाद उसकी भी मौत हो गई।

दीवार पर लिखा सुसाइड नोट
मौके पर पुलिस को जांच के दौरान घर के कमरे की दीवार पर राकेश वर्मा का नाम लिखा मिला और दीवार पर लिखा पाया गया कि राकेश के कारण ही वह आत्महत्या कर रहा है और उससे पहले परिजनों की हत्या कर रहा है। प्रकरण में पुलिस ने राकेश के पिता और भाई को दिल्ली से हिरासत में लिया है। जांच में पता चला है कि जींस कारोबारी गुलशन पर मार्किट का करीब 2 करोड़ से ज्यादा का कर्ज था जिसके लिए कर्जदार रोजाना दिल्ली स्थित गांधीनगर के फैक्ट्री और शोरुम पर तकादे के लिए आते थे। यही नहीं बीती शाम भी उसका एक कर्जदार से झगड़ा हुआ था,जिसके बाद से गुलशन काफी डिप्रेशन में था।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...

महिलाओं ने बाइक पर सवार होकर की 21 देशों की सफल यात्रा, कठिन चुनौतियों के बाद भी डिगा नहीं फैसला     |     CJI शरद अरविंद बोबडे ने कहा, बदले की भावना से किया गया इंसाफ न्‍याय नहीं     |     उन्नाव की बिटिया की मौत पर यूपी में सियासी बवाल, कांग्रेस ने घेरा भाजपा मुख्यालय; पुलिस ने फटकारी लाठी     |     दर्द से कराहती उन्नाव पीड़िता की हालत देख रो पड़े थे सारे डॉक्टर     |     SC पहुंचा हैदराबाद एनकाउंटर मामला, वकीलों ने पुलिस के खिलाफ दायर की याचिका     |     जिंदगी की जंग हार गई उन्नाव बलात्कार पीड़िता, आखिरी शब्द थे- बच तो जाऊंगी न, मरना नहीं चाहती     |     उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद भाई ने मांगा न्याय, कहा- बहन की तरह आरोपियों को भी जिंदा जलाओ     |     उन्नाव कांड: प्रियंका बोलीं- हमारी नाकामयाबी, पीड़िता को नहीं मिला न्याय     |     महिला डॉक्टर को 10 दिन में मिला इंसाफ, पिता बोले- अब मेरी बेटी की आत्मा को मिलेगी शांति     |     रामजन्मभूमि पर फैसले के खिलाफ मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड सुप्रीम कोर्ट में आज दाखिल करेगा रिव्यू पिटीशन     |