Kartarpur Corridor: PM मोदी के उद्घाटन करने से पहले टेंशन, टेंट सिटी व सभा स्थल में भरा पानी

पंजाब सरकार और केंद्र सरकार के सभा स्थलों में पानी भरने के चलते अब यहां रैलियां होने पर संशय खड़ा हो गया है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

 गुरदासपुर। करतारपुर कॉरिडोर को खुलने में कुछ ही घंटे रह गए हैं। इसी बीच इस अवसर का राजनीतिक लाभ लेने में जुटी पंजाब सरकार और केंद्र सरकार की उम्मीदों पर पानी फिर गया है। डेरा बाबा नानक जहां से करतारपुर कॉरिडोर के जरिए गुरुद्वारा साहिब जाने के लिए पैसेंजर टर्मिनल का उद्घाटन शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने करना है वहां भारी बरसात के चलते चारों तरफ पानी भर गया है। आंधी से भी काफी नुकसान हुआ है। जिन लोगों ने खेतों मे अपनी गाडिय़ों को खड़ा किया था वे खेतों में पानी भरने के कारण गाडिय़ां नहीं निकाल पा रहे थे। डेरा बाबा नानक में बनाए गए कंट्रोल रूम में भी पूरी तरह से पानी भर गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जहां जनसभा करेंगे वहां भी ग्राउंड में हर तरफ पानी

पंजाब सरकार और केंद्र सरकार के सभा स्थलों में पानी भरने के चलते अब यहां रैलियां होने पर संशय खड़ा हो गया है। संगत के ठहरने के लिए पंजाब सरकार की ओर से तैयार करवाई गई टेंट सिटी पूरी तरह से पानी से भर गई है। इन टेंटों में रहने के लिए आए हुए यात्री अपना सामान उठाकर वैकल्पिक स्थानों की तलाश करते नजर आए। हालांकि उन्हें आस-पास के गांव के स्कूलों में जगह दी गई थी।

तेज आंधी व भारी बरसात ने फेरा सरकार की उम्मीदों पर पानी, कंट्रोल रूम में भी भरा पानी

गांवों के सरपंचों की मदद भी ली जा रही है। उन्होंने गांवों के घरों में उनके ठहरने का इंतजाम किया है। चूंकि वीरवार को दर्शन अभिलाषियों की संख्या काफी कम थी इसलिए ज्यादा दिक्कत नहीं हुई, लेकिन शुक्रवार और शनिवार को यहां आने वाली संगत के लिए होने वाली परेशानियों को देखते हुए जिला प्रशासन के पसीने छूट रहे हैैं।

आंधी व बरसात को बताया बाबा नानक की नाराजगी

उधर, पंजाब और केंद्र सरकार द्वारा अपनी-अपनी अलग स्टेज लगाने, पहले जत्थे में आम लोगों को न ले जाने की नाराजगी भी यहां पहुंची संगत में साफ नजर आ रही है। वीरवार को आई तेज आंधी और भारी बरसात को उन्होंने बाबा नानक की नाराजगी बताया है। बलजिंदर सिंह का कहना है कि बाबा नानक तो भाई लालो (गरीब, ईमानदार) के साथ ही रहे हैं लेकिन सरकारें मलिक भागो (अमीरों और भ्रष्ट) को ले जा रही हैं।

अमीरों को ले जाने पर हमें कोई एतराज नहीं है, लेकिन कम से कम कुछ तो आम लोगों को लेकर जाते। उन्होंने आगे कहा कि बाबा नानक का प्रकाशोत्सव मना रहे हैं और अपनी अपनी डफली बजाने के लिए दो-दो स्टेज लगा रहे हैं। आज इस तेज बरसात ने सारी स्टेज बर्बाद करके बता दिया कि बाबा नानक के नाम पर राजनीति चमकाना सही नहीं है।

सुरक्षा कारणों से पैसेंजर टर्मिनल को किया बंद

पैसेंजर टर्मिनल को सुरक्षा कारणों के चलते पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को करना है। इसके अलावा डेरा बाबा नानक से सात किलोमीटर पहले सीमा सुरक्षा बल की 12 बटालियन के शिकार माछिया मुख्यालय ग्राउंड में भी पानी भर गया है। इसी ग्राउंड में मोदी जनसभा को संबोधित करेंगे। यहां टेंट उखड़ गए हैं। सुरक्षा कारणों से सुरक्षा कर्मियों ने यहां फोटो खींचने पर पाबंदी लगा दी है।

रंधावा अधिकारियों के साथ करते रहे बैठक

आंधी व बारिश के बाद डेरा बाबा नानक में तैयारियों व कार्यक्रमों के प्रभारी पंजाब के सहकारिता मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा आला अधिकारियों के साथ बैठकें करते रहे। लोक निर्माण विभाग के सेक्रेटरी हुसन लाल, स्थानीय निकाय विभाग के प्रिंसिपल सेक्रेटरी ए वेणुप्रसाद, मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के पॉलिटिकल सेक्रेटरी कैप्टन संदीप संधू अन्य सीनियर अधिकारियों के साथ देर शाम तक बैठकों में व्यस्त थे।

सज गया पंडाल, दरबार साहिब में शुरू हुआ अखंड पाठ

करतारपुर कॉरिडोर के 9नवंबर को होने वाले उद्घाटन के लिए डेरा बाबा नानक के दरबार साहिब में वीरवार को अखंड पाठ शुरू किए गए। कॉरिडोर के उद्घाटन के अवसर पर बीएसएफ की 12 बटालियन के मुख्यालय शिकार माछीयां में भव्य पंडाल लगाया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहां पर संगत को संबोधित करेंगे। पंडाल में 15 हजार संगत के बैठने का प्रबंध किया गया। नीचे प्लाइवुड का कारपेट लगाया गया है। पंडाल के अंदर एलईडी लाइटें लगाई गई हैं। पंडाल को तीन हिस्सों में बांटा गया है। इसके अलावा पंडाल में श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी का प्रकाश करने के लिए विशेष पालकी भी तैयार की जा रही है।

टर्मिनल का निर्माण कार्य पिछड़ा, बारिश में भी जुटे रहे वर्कर

करतारपुर कॉरिडोर पर भारत-पाक सीमा के पास बन रहे करतारपुर पैसेंजर टर्मिनल का निर्माण वीरवार तक पूरा नहीं हो पाया। 9 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसी टर्मिनल से गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब के लिए श्रद्धालुओं का जत्था रवाना करेंगे। वीरवार को हुई बारिश में भी लैंड पोर्ट अथॉरिटी के अधिकारियों और निर्माण में जुटी कंपनी के अधिकारियों को पसीना छूट रहा था। 31 अक्टूबर तक टर्मिनल का निर्माण कार्य पूरा करने का दावा किया जा रहा था लेकिन उद्घाटन से एक दिन पहले तक काम चल रहा।

टर्मिनल का काम पूरा करने के लिए कंपनी तीन-तीन शिफ्टों में काम करवाती रही लेकिन इसके बावजूद समय पर काम पूरा नहीं हो पाया है। चार जून 2019 को करतारपुर टर्मिनल का काम शुरू किया गया था। अब भी कार पार्किंग, यूटी लैंड ब्लॉक सहित पैसेंजर टर्मिनल का अंदरूनी काम और टर्मिनल की छत का काम अधूरा है।

पहली ही बारिश में धंसी कॉरिडोर की ड्रेन, घटिया सामग्री पर लोग भड़के

करोड़ों रुपये की लागत से तैयार किए गए करतारपुर कॉरिडोर की ड्रेन पहली ही बारिश में कई जगह से धंस गई है। निर्माण कार्य में प्रयोग की गई सामग्री पर संगत ने सवाल खड़े किए हैं। लोगों में इसे लेकर रोष भी पाया जा रहा है। फतेहगढ़ चूडिय़ां से आए श्रद्धालु जोबनप्रीत, प्रकाश सिंह, हरप्रीत सिंह, मनदीप सिंह, कोमलप्रीत सिंह का कहना है कि कॉरिडोर की ड्रेन के निर्माण में घटिया सामग्री प्रयोग की गई है। इस कारण पहली बारिश में ही ड्रेन धंस गई। दुनिया भर से संगत कॉरिडोर को देखने आ रही है लेकिन बारिश ने निर्माण करने वाली कंपनी के काम पर सवाल खड़े कर दिए हैं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...

जिंदगी की जंग हार गई उन्नाव बलात्कार पीड़िता, आखिरी शब्द थे- बच तो जाऊंगी न, मरना नहीं चाहती     |     उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद भाई ने मांगा न्याय, कहा- बहन की तरह आरोपियों को भी जिंदा जलाओ     |     उन्नाव कांड: प्रियंका बोलीं- हमारी नाकामयाबी, पीड़िता को नहीं मिला न्याय     |     महिला डॉक्टर को 10 दिन में मिला इंसाफ, पिता बोले- अब मेरी बेटी की आत्मा को मिलेगी शांति     |     रामजन्मभूमि पर फैसले के खिलाफ मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड सुप्रीम कोर्ट में आज दाखिल करेगा रिव्यू पिटीशन     |     प्याज की कीमतों पर सरकार का मंथन, गृहमंत्री की अध्यक्षता में मंत्री समूह की बैठक     |     सोमवार को संसद में पेश होगा नागरिकता संशोधन विधेयक, भाजपा ने जारी किया व्हिप     |     नाराज सीएम गहलोत ने 9 अधिकारियों को किया सस्पेंड, 3 को थमाई चार्जशीट     |     दिल्ली लाई गई उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता, एयरपोर्ट से सफदरजंग तक बनाया गया ग्रीन कॉरिडोर     |     महिला सुरक्षा पर मोदी सरकार का बड़ा फैसला, देशभर के सभी थानों में बनेंगी महिला हेल्प डेस्क     |