मालवा क्षेत्र के भ्रमण पर रवाना हुए भगवान ओंकारेश्वर

चार नवंबर को भगवान ओंकार महाराज प्रतीकात्मक रूप से मालवा भ्रमण के लिए रवाना हो गए।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

ओंकारेश्वर। अनादिकालीन परंपरा के अनुसार सोमवार को भगवान ओंकारेश्वर प्रतीकात्मक रूप में मालवा क्षेत्र के भ्रमण पर रवाना हुए। इस अवसर पर मंदिर ट्रस्ट द्वारा शुद्ध घी, आटा और गुड़ से निर्मित सुपड़ी (प्रसाद) का भोग लगाया गया। इसके बाद जयकारों के साथ श्रद्धालुओं ने भोलेनाथ को विदाई दी। 15 दिन तक ज्योतिर्लिंग मंदिर में न तो भगवान की सेज सजेगी और न ही त्रिकाल आरती होगी।

ओंकारेश्वर मंदिर ट्रस्ट के सहायक कार्यपालन अधिकारी अशोक महाजन और पंडित आशीष दीक्षित ने बताया कि सोमवार को मालवा क्षेत्र में जाने से पहले मंदिर ट्रस्ट द्वारा सुबह भगवान ओंकारेश्वर को प्रसादी भोग लगाया गया। उन्होंने बताया कि पूर्व के समय में भोलेनाथ कार्तिक माह में 15 दिन मालवा क्षेत्र के इंदौर, महू, धार, झाबुआ के अलावा निमाड़ क्षेत्र के खंडवा, खरगोन, बड़वानी सहित अन्य गांवों में भ्रमण करते थे। उस समय संसाधन के अभाव में अधिकांश लोग भोलनाथ के दर्शन करने ओंकारेश्वर नहीं पहुंच पाते थे। इस कारण पालकी में भोलेनाथ की मूर्ति को विराजित कर मालवा व निमाड़ क्षेत्र के गांवों में ले जाया जाता था। इसका मुख्य उद्देश्य ओंकारेश्वर नहीं पहुंचने वाले भक्तों को भोलेनाथ को दर्शन कराने का था। अब पालकी तो नहीं जाती लेकिन अनादिकाल से चली आ रही परंपरा को अभी भी निभाया जा रहा है

चार नवंबर को भगवान ओंकार महाराज प्रतीकात्मक रूप से मालवा भ्रमण के लिए रवाना हो गए। भोलेनाथ 19 नवंबर को भैरव अष्टमी पर मालवा से वापस ओंकारेश्वर लौटेंगे। इस दौरान 15 दिनों तक ज्योतिर्लिंग मंदिर ने भगवान की सेज नहीं सजेगी वहीं त्रिकाल आरती भी नहीं होगी।

ओंकारेश्वर मंदिर ट्रस्ट के पुजारी पंडित डंकेश्वर दीक्षित ने बताया कि पूर्व में लोगों की भगवान के प्रति इतनी आस्था थी कि वे अपनी कृषि भूमि भी ओंकारेश्वर मंदिर को दान कर देते थे। वर्तमान में भी मंदिर ट्रस्ट के नाम 350 एकड़ से अधिक की जमीन मालवा व निमाड़ क्षेत्र में है। अब भगवान प्रतीकात्मक रूप में भ्रमण करने जाते हैं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...

महिलाओं ने बाइक पर सवार होकर की 21 देशों की सफल यात्रा, कठिन चुनौतियों के बाद भी डिगा नहीं फैसला     |     CJI शरद अरविंद बोबडे ने कहा, बदले की भावना से किया गया इंसाफ न्‍याय नहीं     |     उन्नाव की बिटिया की मौत पर यूपी में सियासी बवाल, कांग्रेस ने घेरा भाजपा मुख्यालय; पुलिस ने फटकारी लाठी     |     दर्द से कराहती उन्नाव पीड़िता की हालत देख रो पड़े थे सारे डॉक्टर     |     SC पहुंचा हैदराबाद एनकाउंटर मामला, वकीलों ने पुलिस के खिलाफ दायर की याचिका     |     जिंदगी की जंग हार गई उन्नाव बलात्कार पीड़िता, आखिरी शब्द थे- बच तो जाऊंगी न, मरना नहीं चाहती     |     उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद भाई ने मांगा न्याय, कहा- बहन की तरह आरोपियों को भी जिंदा जलाओ     |     उन्नाव कांड: प्रियंका बोलीं- हमारी नाकामयाबी, पीड़िता को नहीं मिला न्याय     |     महिला डॉक्टर को 10 दिन में मिला इंसाफ, पिता बोले- अब मेरी बेटी की आत्मा को मिलेगी शांति     |     रामजन्मभूमि पर फैसले के खिलाफ मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड सुप्रीम कोर्ट में आज दाखिल करेगा रिव्यू पिटीशन     |