मध्यप्रदेश

ग्राहक बनकर पहुंची पुलिस और हाथ आई 14 किलो गांजे की खेप

खिमलासा, मालथौन क्षेत्र में लंबे समय से चल रहे मादक पदार्थों के कारोबार का पुलिस ने खुलासा किया है।

बीना। खिमलासा, मालथौन क्षेत्र में लंबे समय से चल रहे मादक पदार्थों के कारोबार का पुलिस ने खुलासा किया है। इसके लिए पुलिस खुद ग्राहक बनी और कड़ियों से कड़ी जोड़ सभी आरोपितों को गिरफ्तार किया। क्षेत्र में गांजा सप्लाई करने वाला भाजपा नेत्री का भतीजा पहले से उड़ीसा जेल में बंद है।

खुरई पुलिस अनुविभाग अंतर्गत मालथौन व खिमलासा थाना क्षेत्र में लंबे समय से गांजे का अवैध विक्रय हो रहा था। खिमलासा पुलिस को लगभग 3 दिन पूर्व एक व्यक्ति कम मात्रा में गांजा लिए मिला। यह एक गंजेड़ी था जो अक्सर नशे में रहता था। पूछताछ के दौरान उसने बताया कि झोलसी चौराहे के पास तोरण बघेल यह माल बेच रहा है। पुलिस सादी वर्दी में उस व्यक्ति के साथ तोरण तक पहुंची और आधा किलो गांजा मांगा। तोरण समझ नही सका और गांजा लेकर पहुंच गया, पुलिस ने उसे घेरा और पूछताछ की। जिसमें उसने बताया कि मालथौन क्षेत्र के बमनोरा ग्राम निवासी जितेंद्र दांगी थोक में गांजा बेचने के लिए देता है।

पुलिस ने तोरण से जितेंद्र को फ़ोन लगवाया और आने के लिए कहा। तोरण के फ़ोन पर जितेंद्र अपने एक साथी के साथ मोटर साइकिल पर झोलसी पहुंच गया। जिन्हें पुलिस ने पकड़ा और पूछताछ की। साथ ही उनके बताए पते पर दबिश देकर और गांजा भी बरामद किया।

दो लाख का गांजा था

खिमलासा थाना प्रभारी राम अवतार चौरहा ने बताया कि पूरी कार्यवाही के दौरान कुल 14 किलो गांजा, जिसकी कीमत 2 लाख 10 हज़ार, 2 मोटर साइकिल कीमत 80 हज़ार, 15 हज़ार नगद व मोबाइल जब्त किए गए हैं। पुलिस ने तोरण बघेल, जितेंद्र दांगी के अतिरिक्त बसाहरी निवासी प्रेम कुर्मी व राजेश लोधी के विरुद्ध एनडीपीएस एक्ट के तहत अपराध पंजीबद्ध किया है। जब्त मशरूका की कुल कीमत 3 लाख 10 हज़ार के आसपास है।

Tags

सम्बंधित आर्टिकल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close